Jabalpur News:  सदन में सफाई ठेकेदारों पर पार्षदों ने लगाए गंभीर आरोप

Jabalpur News:  उम्मीद के उलट नगर सदन में पक्ष विपक्ष शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर आरोप प्रत्यारोप से दूर होकर सार्थक चर्चा करते नजर आए। वहीं शहर के लिये नासूर बन चुकी सफाई व्यवस्था में मूलभूत सुधार की तरफ बढ़ते नजर आए। नगर निगम सदन में सफाई ठेकेदारों का ठेका चार महीने के लिये बढ़ाने पर इस शर्त के साथ सहमति बनी कि इस बीच नई व्यवस्था कर ली जाएगी। वहीं डोर टू डोर व्यवस्था का ठेका निरस्त करने पर चर्चा आज होने की संभावना है। गुरुवार को सदन के पहले दिन की कार्यवाही की शुरुआत पंडित विश्वनाथ दुबे, भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी सहित अन्य महापुरुषों की प्रतिमाएं शहर के विभिन्न स्थानों पर स्थापित करने के प्रस्ताव से हुई। जिस पर सर्व सम्मति से प्रस्ताव पास हो गया। उसके कर्मचारी हितों से जुड़े विषय लाने गये, जो मामूलों बदलाव के साथ पास कर दिये गये। शहर के पांचों ठेकेदारों का ठेका ०४ माह के लिये बढ़ाए जाने पर चर्चा शुरु हुई। जिसपर पूरा दिन चर्चा चली, अंत में ठेका इस शर्त पर ०४ माह के लिये बढ़ाने पर सहमति बनीं की इसे दोबारा नहीं बढ़ाया जाएगा। आज सदन में डोर टू डोर कचरा कलेक्शन पर चर्चा होना है।

सफाई ठेकेदार पर गंभीर आरोप……

ठेकेदार के सफाई कर्मचारी हर रोज बदल जाते हैं, कई ऐसे हैं जो शराब पीकर आते हैं, अभ्रदता करते हैं, पैसे मांगते हैं, चाय पिलाने को कहते हैं, नहीं पिलाओं तो घर के सामने बैठ जाते हैं। ठेकेदार बर्फानी सिक्योरिटीज को फोन करो तो वो सीधे कहता है, जो उखाड़ना है, उखाड़ लो। यह गंभीर आरोप पार्षद प्रिया तिवारी ने नगर निगम सदन में जोन सफाई ठेकेदारों को एक्सटेंशन के प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कहे। भाजपा पार्षद के पहले कांग्रेस पार्षद अनुपम जैन ने भी कहा हमारे वार्ड तय सफाई कर्मचारियों के आधे भी नहीं आ रहे। अधिकारी इस मामले में पर फोन तक नहीं उठा रहे। ठेकेदार से बात करो तो साफ कहता है, तुम पैसा लो मूहं बंद रखो। जोन सफाई ठेकेदारों की मनमानी को लेकर कई अन्य पार्षदों ने भी अपनी पीढ़ा व्यक्त की।

बाबा बर्फानी कौन है!

भाजपा पार्षद महेश राजपूत ने सदन में कहा, कौन है बाबा बर्फानी जो हमारे पार्षदों के साथ बदतमीजी कर रहा है। उन्होंने महापौर से कहा कि आप इस विषय में गंभीरता से एक्शन लीजिये। अंत में सदन अध्यक्ष रिंकू विज ने महापौर और प्रभारी से इस विषय में गंभीरता दिखाने का निर्देश दिया। जिस पर महापौर ने कहा पार्षदों के हस्ताक्षर के बिना ठेकेदार का बिल पास नहीं होता। पार्षद तय कर लें ठेकेदार पर क्या एक्शन लेना है, मैं साथ हूं।

शर्तों के साथ ठेका बढ़ाया गया

महापौर ने सदन में कहा वो सभी पार्षदों के साथ हैं। ठेका निरस्त करने को भी तैयार हैं। लेकिन जोन के सफाई ठेके अगर अचानक निरस्त कर दिये तो गये तो शहर में हाहाकार मच जाएगा। नेता प्रतिपक्ष कमलेश अग्रवाल ने इस कहा कि वो तत्काल ठेका निरस्तीकरण की व्यवहारिक कठनाई समझते हैं। लेकिन भाजपा पार्षद सिर्फ इस शर्त पर चार माह के एक्टेंशन को स्वीकार करेंगे कि महापौर इस बात को लेकर आश्वस्त करें कि ठेका फिर कभी एक्सटेंड नहीं होगा। इस च्ाार महीने में नये ठेके की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। सत्ता पक्ष, विपक्ष की मांग से सहमत हुआ और जोन ठेकेदारों का ठेका चार महीने के बढ़ा दिया गया।

नई व्यवस्था पर मंथन जारी

महापौर ने सदन में कहा शहर के लिये नासूर बन चुकी सफाई व्यवस्था में मूलभूत सुधार की आवश्यकता है। जिसके लिये पूरे सदन को साथ लेकर नई व्यवस्था लागू करने पर मंथन जारी है। उन्होंने  कहा, फिलहाल डोर टू डोर ठेका निरस्त कर इस व्यवस्था को निगम अपने हाथ में लेगी, जोन सफाई ठेकों को ४ माह के लिये बढ़ाया जाएगा। इस बीच नई व्यवस्था लाई जाएगी। डोर टू डोर को जोन सफाई व्यवस्था में भी मर्ज करने पर विचार चल रहा है।  महापौर ने कहा सदन को विश्वास में लिये बिना कोई बड़े पैâसले नहीं होंगे। 

Leave a Comment