बारिश के मौसम में फुड प्वाज़िंग होना एक आम समस्या

बारिश के मौसम में बाहर का खाना खाने से यह समस्या हो सकती है।
अक्सर शाम को खाने पीने के शोकीन लोग कुछ न कुछ बाहर का खाना पसंद करते है खाने पीने मेें वह यह भी ध्यान नहीं रखते किवह जो भी कुछ खा रहे हैं वह कैसा है इस से उन्हें यह बीमारी परेशान कर सकती है।इस के लिए लोगों को जागरुक हो ने की ज़रूरत है।इस मौसम में लोगों को विषेश ध्यान देने की जरूरत है। यदि हम इस मौसम में पानी उबाल कर पिएंगे तो पेट संबधित बीमारियों से बच सकते है।। हमें बाहर का पानी भी पीने से बचना चाहिए। इस मौसम में हमें जंक फूड खाने से भी बचना चाहिए।
साथ ही ठंडा खाना बिल्कुल नहीं खाना चाहिए क्योंकि इससे आंतों में इंफेक्शन का भी खतरा हो जाता है। यह उन लोगों को जल्दी अपनी चपेट में ले लेता है जो बाहर का खाना ज्यादा खाते हैं। फूड पाइजनिंग के लक्षण हल्का पेट दर्द उल्टियां होना, जी मचलाना, दस्त लगना आदि हैं। यदि ऐसे कोई भी लक्षण होते हैं तो लापरवाही न बरतते हुए विशेषज्ञों की सलाह से इलाज करवाना चाहिए।

सामान्य कारण

आम तौर से फुड प्वाज़िंग की समस्या खाने पीने में सफाइ न रखने की वजह से होती है।
खाने पीने के बरतन की सफाई न करने से
खराब डेरी उत्पाद लेने से जैसे खराब दही दूध बटर आदि लेने से
बिना हाथ धोए खाना बनाने या खाना लेने से दृ
साफ़ पानी न लेने से दृ
बिना धूलि सब्जी या फल लेने से द

फूड पॉइजनिंग के लक्षण

  • पेट में दर्द
  • पेट में मरोड़
  • दस्त होना
  • भूख न लगना
  • मल में खून आना
  • ठंड लगना और बुखार आना
  • लगातार सिरदर्द होना
  • कमजोर पाचन तंत्र

फूड पॉइजनिंग से बचने के उपाय

  • ors लें: पॉइजनिंग के दौरान शरीर में पानी की कमी हो जाती है इसी कमी को दूर करने के लिए समय.समय पर ors लेना चाहिए। अगर रोगी को सादे पानी की जगह इसका सेवन करता है तो उसे जल्द से आराम मिल सकता है।
  • सादा भोजन लें : फ़ूड पॉइजनिंग होने का सबसे प्रमुख कारण खराब और ज्यादा मसालेदार खाना होता है। ऐसे में अगर रोगी सादा खाना लेता है तो वह जल्दी ठीक हो सकता है। फूड पॉइजनिंग होने पर रोगी को तेल मसालों और ज्यादा मिर्च से दूर ही रहना चाहिए। रोगी ऐसे में दलिया,खिचड़ी, रोटी, और सादी सब्जी को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं।
  • दही और छाछ का इस्तेमाल करें :अगर आप फूड पॉइजनिंग से जूझ रहे हैं तो आपको अपने आहार दही या छाछ को शामिल करना चाहिए। इससे पेट में ठंडक पहुँचती है और पेट में पानी की कमी दूर होती है।
  • सफाई का ध्यान रखें द: फ़ूड पॉइजनिंग होने पर रोगी के आसपास साफ़.सफाई का खास ध्यान रखना चाहिएए क्योंकि यह फूड पॉइजनिंग होने के कारणों में से एक है। हाथ.पैरों को साफ़ करने की सफाई करने के साथ.साथ बर्तनों की सफाई का भी खास ध्यान रखें।
  • गर्मी और बारिश के मौसम में खाना अगर फ्रिज से बाहर ज्यादा समय तक रखा रह जाता है तो उसमें ई.कोलीए साल्मोनेलाएलिस्टेरिया जैसे बैक्टीरिया पैदा हो जाते हैंण् ये पेट में जाकर इंफेक्शन को फैला देते हैं और फूड पॉइजनिंग की समस्या हो जाती हैण् इसलिए गर्मी और बारिश के मौसम में खाना तभी फ्रिज से बाहर निकालेंए जब आपको इसका सेवन करना होण्
  • बासी भोजन करने से परहेज करें और जितना संभव हो सके इन दोनों ही मौसम में बाहर का भोजन ना करेंण् बल्कि घर का खाना खाएंण् दूध और आलू से बनी चीजें यदि बासी हो गई हों तो इनका सेवन करने से बचना चाहिएण्
  • सब्जियों और फलों को अच्छी तरह धोकर ही इनका उपयोग करना चाहिएण्

Leave a Comment